Career Tips

Interior Design me Career Kaise Banaye….

How to make a career in Interior Designing : Career related to furnishings Interior designer, you can also do passion with career Follow… After taking the course of Interior Designer, you can start your own company…

BY BHASKARJOBS TEAM


Interior Design me Career Kaise Banaye- वर्तमान दौर में घर बनाने का सपना मात्र उसके बनने तक ही सीमित नहीं है. बल्कि घर का ड्राइंग रूम हो या बेडरूम उसके हर कोने का उपयोग किया जाना भी उसमें शामिल है.अत: घर की आकर्षक सुरूचिपूर्ण बनावट के साथ साथ भवन के हर खाली जगह का उपयोग भी आवश्‍यक हो गया है. इसका उपयोग कैसे किया जाये? किस तरह किया जाये? इन सबका साल्‍युशन है interior designing. जिसमें एक कुशल इंटीरियर डिजाइनर उपलब्‍ध संसाधनों का सही इस्‍तेमाल करके घर को आपकी इच्‍छा के अनुरूप विशिष्‍ट अंदाज में ढाल सकता है. सिर्फ घर में ही नहीं हर व्‍यवसायिक क्षेत्र, डिपार्टमेंटल स्‍टोर, होटल बैंक,क्‍लब, थियेटर, मंच आदि के लिए इंटीरियर डिजाइन की जरूरत होती है.इंटीरियर डिजाइनर, इंटीरियर में लगाये जाने वाले पर्दों का रंग, कुर्सियों की बनावट, दीवारों के रंग से लेकर सोफा रखने का स्‍थान, दीवार पर लगी पेटिंग तक का निर्धारिण करता है. वह यह भी बताता है कि किस रंग की दीवार के साथ कैसे मेट होना चाहिये.इस तरह वर्तमान में इंटीरियर डिजाइनर की बढ़ती मांग और फैलते कारोबार के कारण इस क्षेत्र में रोजगार के अच्‍छे अवसर उपलब्‍ध हो गए है. इंटीरियर डिजाइनर आज एक महत्‍वपूर्ण आकर्षक करियर स्‍थापित हो गया है. इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कोन सा कोर्स,कहां से करना चाहिये और कोर्स करने के बाद उसे कितनी सैलरी मिल सकती है ? इंटीरियर डिजाइनिंग के क्षेत्र में कैसे स्‍वयं का स्‍वरोजगार शुरू किया जा सकता है? अधिक जानकारी के लिए पढे….

Qualities Required to Become an Interior Designer-

इसके लिये आप में सौंदर्य बोध और कल्‍पनाशीलता का तालमेल हो, सृजन क्षमता हो. कलात्‍मक अभिरूचि हो, एक इंटीरियर डिजाइनर को स्‍वयं की कल्‍पनाशीलता और कलात्‍मकता से वस्‍तुओं को सजाने संवारने का कार्य करना होता है.साथ ही सीमित जगह का सदउपयोग कैसे करना है, इसका सृजन भी करना होता है. क्‍लाइंट को क्‍या चाहिये और उसे स्‍वयं की सोच के साथ समझाने की कला भी होना चाहिये. इस क्षेत्र में नयापन जरूरी है. एक जैसा नहीं चल सकता है. रंगों, प्रकाश व सजावट के समन्‍वय का सटीक अंदाज होना चाहिये. यदि आपमें यह सारे गुण है तो आपको एक बेहतर इंटीरियर डिजाइनर बनने से कोई नहीं रोक सकता है.

Qualification and Course to become an Interior Designer-

इंटीरियर डिजाइनर का प्रशिक्षण प्राप्‍त करने के लिए 12वीं कक्षा प्रथम श्रेणी में उत्‍तीर्ण होना आवश्‍यक है. इस पाठयक्रम में कई जगह पर स्‍नातक के बाद भी प्रवेश दिया जाता है. देशभर में विभिन्‍न संस्‍थाओं में वाई.डब्‍ल्‍यू.सी.ए.की शालाओं में यह पाठयक्रम तीन तीन महिने के कोर्स के रूप में उपलब्‍ध है. दसवीं पास भी इस पाठयक्रम के लिए आवेदन कर सकते है.

Job Opportunities After Doing Interior Designing Course-

व्‍यवसायिक प्रतिष्‍ठानों, होटलों,स्‍टोरर्स, अमीरों के घर, कंपनियों, बैंकों, क्‍लब, रेस्‍टोरेंटस आदि के इंटीरियर के लिये स्‍थायी नियुक्ति हो सकती है. थियेटर, मंच सज्‍जा के लिए काफी मांग बनी हुई है. प्रदर्शनी की डिजाइनिंग में भरपूर अवसर उपलब्‍ध होते है. फैशन शो, सांस्‍कृतिक कार्यक्रम, संगीत, नाटक या फ‍िल्‍मों आदि के क्षेत्र में सजावट के लिये बहुत स्‍कोप है. बतौर फ्री लांसर इस क्षेत्र में अच्‍छा खासा पैसा कमाया जा सकता है.डिपार्टमेंटल स्‍टोर में वस्‍तुओं के सही स्‍थान व संयोजन के लिये होटलों व बड़ी बड़ी दुकानों में शो केसों में सजी वस्‍तुओं को इंटीरियर डिजाइनर ही सजाता है. मौसम के अनुरूप किसी भी शो विंडों को क्‍या रूप देना है, यह इंटीरियर डिजाइनर ही तय करता है.

Interior Designer Courses-Interior Design me Career Kaise Banaye

इस पाठयक्रम में छात्रों को अंत: साजसज्‍जा के प्रमुख नियमों के बारे में जानकारी दी जाती है, कहीं-कहीं एक वर्षीय, द्विवर्षीय, त्रिवर्षीय, पांच वर्षीय प्रोफेशनल कोर्स भी उपलब्‍ध है. इन पाठयक्रमों में ड्राइंग, पेटिंग, लकड़ी का काम, कारपेंटरी, फ्रेब्रिक की जानकारी, रंग संयोजन,उचित प्रकाश व्‍यवस्‍था, भवन निर्माण के उपयोग में आने वाली सामग्री की जानकारी, स्‍कल्‍पचर आदि के विषय के बारे में पढ़ाया जाता है.

Leading Institute for Interior Designer Course-

 

About the author

vickey sahay

Leave a Comment